कम्पनी के एचआर पर लगाया मारपीट व नौकरी से निकालने का आरोप

 हरिद्वार। सिडकुल स्थित फार्मा कंपनी के सेफ्टी सुपरवाईजर ने एचआर पर नौकरी से निकालने व मारपीट करने का आरोप लगाया है। रविवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते सिडकुल की सामनोकैप फार्मा कंपनी में सेफ्टी सुपरवाईजर यशपाल सिंह ने आरोप लगाया है कि बीती 27 अक्टूबर को बेटी का जन्मदिन मनाने के लिए उसने प्रार्थना पत्र दिया था। लेकिन कंपनी के एचआर विपिन बिष्ट ने छुट्टी देने से मना कर दिया। इसके बाद उसने बेटी का जन्मदिन होने का हवाला देते हुए मौखिक रूप से छुट्टी देने का निवेदन किया। लेकिन एचआर ने छुट्टी देने से मना करते हुए डयूटी करने के लिए कहा इस पर वह डयूटी पूरी कर घर चले गए। अगले दिन अवकाश के बाद वह कंपनी पहुंचे तो गेटकीपर ने एचआर के आदेश का हवाला देते हुए उन्हें अंदर जाने से कर दिया। कई दिन भटकने के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत दर्ज करायी। जिसके बाद 17 नवंबर को श्रम आयुक्त ने उन्हें वार्ता के लिए बुलाया। लेकिन वार्ता में कंपनी की ओर से कोई नहीं पहुंचा। इसके बाद 20 नवंबर को बुलाया गया। लेकिन कंपनी की ओर से 20 को भी कोई नहीं पहुंचा। 22 नवंबर को कंपनी के एचआर विपिन बिष्ट श्रम आयुक्त कार्यालय पहुंचे और बताया कि उन्हें नौकरी से नहीं निकाला गया है और एक दिन में समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया गया। इसके बाद एचआर की ओर से संदेश भिजवाकर 1 दिसंबर से डयूटी पर आने के लिए कहा। 1 दिसंबर को कंपनी जाने पर सिक्योरिटी सुपरवाईजर ने प्लांट में नहीं आने और मारपीट करने की धमकी दी। यशपाल सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि 2 दिसंबर को वह शिवालिक नगर से वापस लौटते समय फाऊण्ड्री गेट के पास मोटर साईकिल से आए विपिन बिष्ट व एक अन्य व्यक्ति ने उन्हे रोककर गालियां देते हुए मारपीट की। साथ ही शिकायत करने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी। घटना के बाद वह रानीपुर कोतवाली रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचे। लेकिन पुलिस ने उनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की और अगले दिन आने को कहा। इसके उन्होंने डाक से अपनी शिकायत एसएसपी को भेजकर मुकद्मा दर्ज कराने की गुहार लगायी है।