अब नई संस्था करेगी डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन,शहरवासियांे को मिलेगी राहत

 हरिद्वार। पिछले कुछ दिनों से केआरएल एवं नगर निगम के बीच कूड़ा उठाने को लेकर जारी विवाद के बीच फिलहाल शहरवासियों को राहत मिलने वाली है। नगर निगम द्वारा नयी संस्था के साथ करार के साथ ही मंगलवार से पूर्व की भांति डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का काम शुरू हो जाएगा। शासन के निर्देश पर नगर निगम प्रशासन ने सुमित्रा स्वयं सहायता समूह को यह जिम्मेदारी दी है। बीस सदस्यीय इस स्वयं सहायता समूह से 14 सुपरवाइजर समेत 199 कर्मचारी जुड़े हैं। अधिकांश केआरएल कंपनी के कर्मचारी हैं। गौरतलब है कि नगर निगम से भुगतान आदि को लेकर सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट कंपनी केआरएल ने बीते सोमवार से कूड़ा उठाने का काम बंद कर दिया था। इससे शहरियों को कॉलोनियों में रखे कूड़ेदान या फिर सड़क किनारे बने डंपिग प्वाइंटों पर आकर कूड़ा फेंकना पड़ रहा था। डंपिग प्वाइंटों से समय से कूड़े का उठान और निस्तारण न होने से शहरवासियों को दिक्कतें उठानी पड़ रही थी। कूड़े के ढेर से उठने वाली दुर्गंध से आबोहवा प्रदूषित होने के साथ संक्रामक बीमारियों के फैलने का अंदेशा बना था। इधर महापौर समेत नगर निगम के पार्षद जल्द से जल्द व्यवस्था पटरी पर लाने को नगर निगम प्रशासन पर दबाव बना रहे थे। वैकल्पिक व्यवस्था के तहत नगर निगम प्रशासन ने कूड़े के उठान और निस्तारण को 14 कूड़ा वाहन लगाए थे, लेकिन विस्तृत क्षेत्र के हिसाब से नगर निगम प्रशासन की यह व्यवस्था नाकाफी थी। शहरियों को होने वाली दिक्कतों को देखते हुए नगर निगम प्रशासन ने शासन के निर्देश पर सुमित्रा स्वयं सहायता समूह को डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन की जिम्मेदारी सौंपी है। मंगलवार से नगर निगम के वार्ड एक से 52 में पूर्व की भांति डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का काम शुरू हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि नए आठ वार्ड 53 से 60 में पहले से ही तीन स्वयं सहायता समूह है। स्वयं सहायता समूह को निगम प्रशासन की ओर से कोई सुविधा मुहैया नहीं कराई जाएगी। कूड़ा वाहन से लेकन उपकरण आदि की व्यवस्था स्वयं करनी होगी। हालांकि बॉयलॉज के तहत घर और प्रतिष्ठानों से यूजर चार्ज लेने का अधिकार दिया गया है। स्वय सहायता समूह की रिपोर्ट पर यूजर चार्ज न देने वालों के विरुद्ध नगर निगम प्रशासन कार्रवाई कर सकता है। वही सहायक नगर आयुक्त उत्तम सिंह नेगी के अनुसार सुमित्रा स्वयं सहायता समूह को वैकल्पिक व्यवस्था के तहत डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का काम दिया गया है। मंगलवार से समूह से जुड़े सफाई कर्मी समुचित तरीके से कामकाज शुरू कर देंगे। डंपिग प्वाइंटों से कूड़ा के उठान और निस्तारण की जिम्मेदारी नगर निगम की होगी। इसके लिए सात और वाहन बढ़ाए गए हैं। अब कूड़ा वाहनों की संख्या 21 हो गई है।